Essay on Republic Day in Hindi for Student, SSC CHSL, LDC, and Children. 


Essay on Republic Day in Hindi for Student, SSC CHSL, LDC, and Children. Essay on Republic Day Prade or Speech. 50, 100, 200, 300, 400, & 500 words and Class for 3,4, 5,6,7,8,9,10, &12, an Essay of Republic Day in Hindi Language, Wikipedia. A short and Long Essay on India Republic Day. गणतंत्र दिवस पर निबंध. Write Essay on Republic day in Hindi, Essay on republic day of India in Hindi, Essay on 26 January republic day in Hindi.

गणतंत्र दिवस पर निबंध


भारत प्रतिवर्ष 26 जनवरी को बहुत गर्व और उत्साह के साथ गणतंत्र दिवस मनाता है। यह एक ऐसा दिन है जो हर भारतीय नागरिक के लिए महत्वपूर्ण है। गणतंत्र दिवस वह दिन को दर्शाता है जब भारत वास्तव में स्वतंत्र हो गया और लोकतंत्र को बड़े हर्ष के साथ गले लगा लिया था

दूसरे शब्दों में, गणतंत्र दिवस वह दिन है जिस दिन हमारा संविधान लागू हुआ था। आजादी के लगभग 3 साल बाद 26 जनवरी 1950 को हम एक संप्रभु, धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी, लोकतांत्रिक गणराज्य बन गए।

गणतंत्र दिवस वह दिन है जब भारत ने अपना संविधान अपनाया था। 26 जनवरी 1950 को भारत सरकार ने संविधान को अपनाया था और तब से हर साल 26 जनवरी को भारत के गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।

यह देश के सभी नागरिकों के जीवन में एक विशेष स्थान रखता है और सभी के लिए एक राष्ट्रीय अवकाश भी रहता है।

Essay on Republic Day in Hindi
Essay on Republic Day in Hindi


गणतंत्र दिवस का इतिहास

26 जनवरी 1950 कोहमारे देश को एक संप्रभुधर्मनिरपेक्षसमाजवादी और भारत के लोकतांत्रिक गणराज्य के रूप में घोषित किया गया था, जिसका अर्थ था कि भारत में स्वयं का शासन और कोई बाहरी शक्ति इस पर शासन नहीं करेगी। इस घोषणा के साथ, भारत के राष्ट्रपति द्वारा दिल्ली के राजपथ पर झंडा फहराया गया, पूरा भारत इस दिन को परेड और राष्ट्रगान के साथ मनाता है।

हमें 15 अगस्त 1947 को ब्रिटिश शासन से आज़ादी मिली थी, हमारे देश में अभी भी एक ठोस संविधान का अभाव था। इसके अलावा, भारत के पास कोई विशेषज्ञ और राजनीतिक शक्तियां नहीं थीं, जो राज्य के कामकाज को सुचारू रूप से चलाने में मदद करें। 

उस समय तक, 1935 का भारत सरकार अधिनियम मूल रूप से शासन करने के लिए संशोधित किया गया था, हालाँकि, यह अधिनियम औपनिवेशिक शासन के प्रति अधिक झुक गया था। इसलिए, एक विशेष संविधान बनाने की सख्त जरूरत थी। 

इस प्रकार, डॉ. बी.आर. अंबेडकर ने 28 अगस्त, 1947 को एक संवैधानिक मसौदा समिति का नेतृत्व किया। मसौदा तैयार करने के बाद, इसे 4 नवंबर, 1947 को उसी समिति द्वारा संविधान सभा के सामने पेश किया गया। यह पूरी प्रक्रिया बहुत विस्तृत थी और इसे पूरा करने में 166 दिन लगे।

हमारी संवैधानिक समिति ने सभी के अधिकारों को शामिल करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। इसका उद्देश्य सही संतुलन बनाना था ताकि देश के सभी नागरिक अपने धर्मों, संस्कृति, जाति, लिंग, पंथ, समान अधिकारों का आनंद ले सकें। आखिर में, उन्होंने 26 जनवरी, 1950 को देश को आधिकारिक भारतीय संविधान प्रस्तुत किया।

गणतंत्र दिवस पर निबंध
गणतंत्र दिवस पर निबंध

इसके अलावा, भारत संसद का पहला सत्र भी इसी दिन आयोजित किया गया था। इसके अलावा, 26 जनवरी को भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ। राजेंद्र प्रसाद के शपथ ग्रहण समारोह में भी शामिल हुए। इस प्रकार, यह दिन बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह ब्रिटिश शासन के अंत और भारत के गणतंत्र राज्य के रूप में जन्म लेता है।

भारतीय इतिहास में गणतंत्र दिवस का बहुत महत्व है क्योंकि यह हमें भारतीय स्वतंत्रता से संबंधित हर संघर्ष के बारे में बताता है। भारत की स्वतंत्रता के लिए लड़ने वाले लोगों ने 1930 में लाहौर में रावी नदी के तट पर भारत की पूर्ण स्वतंत्रता (पूर्ण स्वराज) प्राप्त करने का संकल्प लिया था

गणतंत्र दिवस समारोह


भारतीय हर साल 26 जनवरी को बहुत उत्साह और जोश के साथ मनाते हैं। इस दिन, लोग अपने धर्म, जाति, पंथ, लिंग, और बहुत कुछ भूल जाते हैं। यह पूरे देश को एक साथ लाता है। यह वास्तव में हमारे देश की विविधता को दर्शाता है।

भारत की राजधानी, नई दिल्ली, में एक गणतंत्र दिवस परेड के साथ मनाया जाता है जो भारतीय सेना की ताकत और हमारे देश की सांस्कृतिक विविधता को प्रदर्शित करती है। ये परेड अन्य शहरों में भी होते हैं, जहाँ बहुत सारे स्कूल के बच्चे भाग लेते हैं।

गणतंत्र दिवस पर निबंध - गणतंत्र दिवस परेड की फोटो 

Essay on Republic Day in Hindi Language
Essay on Republic Day in the Hindi Language 

Essay on Republic Day for School Student
Essay on Republic Day for School Student 
Thanks for reading an article on Essay on Republic Day in Hindi for SSC CHSL, LDC, and Children Student. Essay on Republic Day Prade or Speech. Language, Wikipedia. A short and Long Essay on India Republic Day. गणतंत्र दिवस पर निबंध. Write Essay on Republic day in Hindi, Essay on republic day of India in Hindi, Essay on 26 January republic day in Hindi.